प्रा योगिक सूक्ष्म तरंग
इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरी तथा अनुसंधान संस्था
सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय,भारत सरकार ;

हमारे बारे में Print

समीर की स्थापना वर्ष 1984 में,तत्कालीन इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग (डी ई ओ),भारत सरकार के द्वारा एक अनुसंधान एवं विकास संस्था के रूप में हुई थी।
    समीर के तीन केंद्र हैं, ये तीन केंद्र तीन बड़े शहरों-मुंबई,चेन्ने तथा कोलकाता में स्थित हैं। इसका प्रधान कार्यालय मुंबई में है।

    समीर-कोलकाता केंद्र की स्थापना मई, 1993 में मिलीमीटर तरंग प्रौद्योगिकी समूह के रूप में हुई। यह मई,2000 में साल्टलेक, इलेक्ट्रॉनिक्स कॉम्पलेक्स, कोलकाता में पूर्णकालिक प्रयोगशाला के रूप में कार्य करना शुरु कर दिया था। सी टी आर सुविधा की स्थापना समीर कोलकाता के द्वितीय कैंपस में हुई है।

समीर कोलकाता केंद्र (द्वितीय कैंपस)
जे सी-30, सेक्टर-III, साल्टलेक
कोलकाता- 700098

 : इस केंद्र के कार्य के प्रमुख क्षेत्र हैं :
  • परिपथ, उपप्रणाली तथा आर एफ में प्रणाली,सूक्ष्मतरंग और मिलीमीटर तरंग आवृति रेंज।
  • ऐन्टेना और विद्युत चुम्बकत्व।
  •  विद्युत चुम्बकत्व अन्तरापृष्ठ (इ एम आई ) और  विद्युत चुम्बकत्व सुसंगतता (ई एम सी).