प्रा योगिक सूक्ष्म तरंग
इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरी तथा अनुसंधान संस्था
सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय,भारत सरकार ;

काम के क्षेत्रोंPrint

  •      परिपथ, उपप्रणाली तथा आर एफ में प्रणाली , सूक्ष्मतरंग और
  •     मिलीमीटर तरंग आवृति रेंज
  •     एंटेना और Electromagnetics।
  •     विद्युत चुम्बकीय हस्तक्षेप (ईएमआई) और विद्युत चुम्बकीय संगतता (EMC)।

इस केंद्र में वी एच एफ/ यू एच एफ, सूक्ष्मतरंग तथा मिलीमीटर तरंग आवृति रेंज में वस्तुतः किसी भी ऐन्टेना के अभिकल्प एवं विकास हेतु अनुसंधान एवं विकास के लम्बे वर्षों के अनुभव वाली अभिकल्प की एक सशक्त टीम है। विभिन्न अनुप्रयोग के लिए व्यापक श्रेणी के विशिष्ट ऐन्टेना विकसित किए गए हैं। ऐन्टेनाओं के मूल्यांकन हेतु परीक्षण एवं माप सुविधाएँ उपलब्ध हैं। आवृत्ति रेंज 1-100GHz में ऐन्टेना तथा यादृच्छिक माप के लिए एक संहत ऐन्टेना परीक्षण रेंज निर्माणाधीन है।


विभिन्न अनुप्रयोग के लिए सूक्ष्मतरंग तथा मिलीमीटर तरंग उपप्रमाणी के अभिकल्प तथा विकास में वैज्ञानिको को एक मूल समूह संलग्न है। अनुसंधान एवं विकास कार्य को सूविधा जनक बनाने के लिए कुछ प्रयोगशाला की मूलभूत सुविधाएँ सृजित की गयीं हैं। पूर्ण विकसित मिलीमीटर तरंग प्रयोगशाला सुविधा निर्माणाधीन है।

  इस केंद्र में अन्तरराष्ट्रीय मानको के अनुरूप विकिर्ण उत्सर्जन, विकिर्ण चुम्बकीय प्रवृति,वाहित उत्सर्जन, तथा वाहित चुम्बकीय प्रवृति जैसे परीक्षण एवं माप की अत्याधुनिक सुविधाओॆ के साथ एक ई एम सी प्रयोगशाला की स्थापना हुई है ताकि उद्योगों को उनके उत्पाद का ई एम सी अनुपालन हेतु परीक्षण एवं माप की सेवाएँ दी जा सके। विकिर्ण उत्सर्जन तथा विकिरण चुम्बकीय प्रवृति के परीक्षण हेतु पूर्वी भारत में पहली बार एफ सी सी द्वारा प्रमाणित एक परिरक्षित लाइन्ड अप्रतिध्वनिक कक्ष ( 3 मीटर रेंज) की स्थापना हुई है।

यह केंद्र क्रांतिक ऐन्टेना, परिपथ तथा वी एच एफ/यू एच एफ में उपप्रणाली से लेकर मिलीमीटर तरंग आवृति रेंज तक में अभिकल्प एवं विकास हेतु अनुसंधान एवं विकास की परियोजनाएँ लेता है और ई एम आई/ ई एम सी परीक्षण तथा माप और परामर्शद सेवाएँ प्रदान करता है।